14 Face Rudhraksha

Availability: In stock


Rudraksha
14 Face / 14 मुख्‍ाी
Origin
Nepal
Shape & Size
Round like, 18 mm, 2-3 grms
Certification & Energization
Yes
Shipping (Free)
4-5 Days
Customer Care
7007012255




Rs. 51000
  
  

Featured Description

सभी रुद्राक्षों और रत्‍नों में श्रेष्‍ठ कहे जाने वाले इस अभिमंत्रित 14 मुखी रुद्राक्ष का संबंध शनि देव से है। इसे स्‍वयं भगवान शिव शंकर का स्‍वरूप कहा जाता है। शनि देव को प्रसन्‍न करने के उपायों में सबसे श्रेष्‍ठ इस रुद्राक्ष को धारण कर लेनाा है। ध्‍यान के चरम पर पहुंचने की इच्‍छा रखने वाले लोगों के लिए भी यह बहुत अच्‍छा उपाय है।
मंत्र: ऊं नम: शिवाय
देवता: भगवान शिव 
ग्रह: शनि
राशि: मकर और कुंभ
उत्‍पत्ति: नेपाल

14 मुखी अभिमंत्रित रुद्राक्ष के लाभ
  • पौराणिक लेखों के अनुसार यह कुंडलिनी जाग्रण के लिए धारण किया जाना चाहिए। इससे छठी इंद्री को बहुत प्रबलता मिलती है। 
  • यह रुद्राक्ष बौद्धिक क्षमता को बढ़ाता है और धारण करने वाले को सफलता की ओर ले जाता है। 
  • कुछ अभिलेखों के अनुसार इस रुद्राक्ष को राजा युद्ध में जाने से पहले धारण किया करते थे। अत: आज के समय में यह कहा जा सकता है कि यह रुद्राक्ष अचानक होने वाली दुर्घटना से बचाती है। 
  • अगर कोई व्‍यक्ति हमेशा कोई डर या भय महसूस करता रहता हो तो भी इस रुद्राक्ष को धारण किया जाना बहुत लाभकारी होता है। 
  • शनि देव के अच्‍छे प्रभावों के लिए इसे शनि की ढैया या साढेसाती के दौरान अथवा कुंडली में शनि की महादशा और अंतर दशा होने पर इसे अवश्‍य धारण करना चाहिए। 
  • अगर कुंडली में ऐसी ग्रह दशा बन रही हो जो कि इस बात का संकेत हो कि आपको तंत्रिका तंत्र अर्थात नसों से संबंधित कोई बीमारी होने वाली है तो बचाव स्‍वरूप यह अभिमंत्रित 14 मुखी रुद्राक्ष धारण किया जा सकता है।
कैसे करें धारण
सबसे पहले इस अभिमंत्रित रुद्राक्ष को प्राप्‍त करें। इसके बाद किसी भी शनिवार के दिन पूरे विश्‍वास और आस्‍था से इसे धारण कर लें। 


14 Face Rudhraksha

Oops there is no vedio related to this product

SIMILAR PRODUCTS