Lapis Pendent

Availability: In stock


नाम
Lapis (लाजवर्त)
वजन
8 रत्‍ती
धातु
चांदी
सर्टिफिकेशन
उपलब्‍ध
Shipping
Free in India 4-5 days


Rs. 1500
  
  

Featured Description

लाजवर्त को पूरी दुनिया में शनि के रत्‍न नीलम के उपरत्‍न के रूप में धारण किया जाता है। इसे शनि देव की कृपा पाने के लिए धारण करते हैं। शनि के रत्‍न नीलम को सभी व्‍यक्ति नहीं धारण कर सकते इसलिए हमारे ऋषि मुनियों ने इस रत्‍न की खोज की और शनि देव की कृपा को आम जन तक पहुचाने का मार्ग खोला।

कौन कर सकता है धारण: लाजवर्त धारण करने में किसी को भी कोई बाधा नहीं होती। सामान्‍य रूप से इसे शनि देव के शुभ फल प्राप्‍त करने के लिए धारण किया जाता है।

किन फलों के लिए धारण करें लाजवर्त:

यदि कुंडली में शनि की महादशा अंतरदशा या फिर साढ़े साती अथवा ढ़ैया के कष्‍टों से गुजर रहे हैं तो यह रत्‍न आपके लिए वरदान साबित हो सकता है।

यदि कर्ज के कारण कंधे झुक गए हो तो लाजवर्त धारण करने से आप शनै शनै कर्ज से मुक्ति की ओर जाते हैं।

काम धंधे में आई मंदी को भी शनि देव की कुदृष्टि का फल माना गया है ऐसे में भी लाजवर्त धारण करना बहुत लाभकारी होता है।

शरीर अगर मृत्‍युतुल्‍य कष्‍ट से गुजर रहा हो ऐसी अवस्‍था में भी लाजवर्त धारण करने की सलाह दी जाती है।

Lapis Pendent

Oops there is no vedio related to this product

SIMILAR PRODUCTS